About Us

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम संजय सिंह राजपूत है अभी मेरी उम्र 19 वर्ष है।

चलो आपको मेरी ब्लॉगिंग यात्रा के बारे में आपको रूबरू कराऊं।

दोस्तों मैं स्वयं एक मध्यम परिवार परिवेश से हूं , मेरा गांव मध्य प्रदेश के जिला हरदा में स्थित है। बहुत ही छोटा सा प्यारा सा गांव है दीपगांव कलां।

इसी गांव में हमारी पुरी फैमिली रहती है , दोस्तों गांव जैसा सुकून किसी बड़े शहरों में नहीं है। यहां सुबह से चलने वाली प्यारी सी हवाऐ जो हमारे शरीर को स्पर्श करती हुई बड़ा कोमल एहसास देती हैं।😊

मेरी ब्लॉगिंग यात्रा – बात 2020 की है ( लॉक डाउन का समय ) मैं 1 दिन ऐसे ही यूट्यूब पर वीडियो देख रहा था इतने में मैंने एक वीडियो देखा इस वीडियो में बताया जा रहा था कि आप ब्लॉगिंग की मदद से लाखों रुपए कमा सकते हो। और उन्होंनेे ब्लॉग स्टार्ट करने की पूरी प्रोसेस बताइ।
मैंने सोचा चलो फ्री हैं कुछ नया करते हैं मैंने अपना एक ब्लॉग बनाया ।
मैंने सोचा चलो स्टार्ट करते हैं वैसे भी लॉक डाउन का समय था और मैं फ्री बैठा था।
स्टार्ट करने के एक-दो दिन बाद मैंने अपना first blog post 24 अप्रैल 2020 को लिखा था।

जो लगभग 100 – 200 शब्द का था ना मैंने उसमें कुछ keywords दिये और ना कोई हेडिंग दी। क्योंकि मैंने इससे पहले ब्लॉगिंग का नाम भी नहीं सुना था, वह तो कुछ मेरी डायरी में लिखा हुआ था वह मैंने लिख दिया।

दो पोस्ट और की और अपने ब्लॉग के लिंक दोस्तों के पास शेयर कर कर के थोड़े बहुत views मिल गए।

धीरे-धीरे यूं ही चलता रहा लगभग मेरे 30 पोस्ट हो गए फिर मैंने गूगल ऐडसेंस के लिए अप्लाई किया।
मुझे लगभग 1 महीने के बाद गूगल ऐडसेंस अप्रूवल मिल गया।
अप्रूवल मिलने के बाद में मैं बहुत खुश हुआ।
पहले मुझे यह लगता था कि अगर लोग ऐड देखते हैं तो भी पैसे मिलते हैं पर ऐसा नहीं है अगर लोग क्लिक करेंगे तो ही पैसे मिलेंगे देखने के पैसे बहुत कम मिलते हैं।
तो फिर मेरे दिमाग में एक शातिर आईडी आया। क्यों ना अपने ऐड पर खुद क्लिक करके पैसे कमाए 😀 क्योंकि मुझे यह पता नहीं था किससे इनवेलिड एक्टिविटी हो जाएगी और मेरा ऐडसेंस डिसएबल हो जाएगा कोई बताने वाला ही नहीं था ना हमारे आसपास के क्षेत्र में , ब्लॉगिंग एक नया नाम था कोई ज्यादा व्यक्ति इसके बारे में आज भी नहीं जानता। मैं बताने की कोशिश करूं तो भी वह ज्यादा नहीं समझ पाते। तो दोस्तों मैंने खुद अपने ऐड पर 1 महीने लपक के क्लिक कीया है। लगभग $5 मैंने ऐसे ही बना लिया पर एक दिन गूगल के तरफ से ईमेल आया your account temporary disabled उस समय में बहुत नर्वस हुआ। फिर मैंने यूट्यूब पर देखा यह क्यों हुआ फिर मुझे पता चला कि यह तो मेरी करामत है।
खेर ज्यादा बुरा नहीं लगा पर फिर भी मैं लगा रहा , मुझे 25 दिनों के बाद में फिर से गूगल ऐडसेंस मिल गया।

कुछ दिन बाद मैंने दोस्तों से पैसे उधार लेकर अपना एक डोमेन रजिस्टर किया जो इस ब्लॉग में है।
और उसके बाद से मैं कंटिन्यू ब्लॉगिंग कर रहा हूं । कोशिश है कि आगे भी करता रहूं ।

दोस्तों यह दुनिया उगते सूरज को सलाम करती है अगर आप थोड़े भी असफल हो जाते हो तो जो लोग आपकी तारीफ कर रहे हैं वही लोग आपकी बुराई करने लगेंगे। अगर इन लोगों को जवाब देना है तो आपको निरंतर अथक प्रयास करते रहना है। आप जरुर सफल होंगे।

दोस्तों अभी तो कहानी इतनी है अगर आगे और भी कुछ उतार-चढ़ाव आते हैं तो मैं यहां ऐड कर दूंगा। पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।