NEET की पूरी जानकारी हिंदी में

NEET  की पूरी जानकारी 

HELLO FRIENDS ,

आपको गोल तक पहुंचने में आपकी मदद करती है  Hindi Info Place वेबसाइट  हेलो नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है एक  बार फिर से हमारी  वेबसाइट Hindi Info Place  पर आज हम आपके लिए लेकर आए हैं

NEET के बारे में पूरी जानकारी
हम सभी आगे बढ़ना चाहते हैं और इसके लिए अपने पसंदीदा field को चुनते  हैं ताकि अपनी पसंद का कैरियर बना सके इसके लिए हमें जमकर की पढ़ाई भी करनी होती है ताकि अच्छी परफॉर्मेंस से ताकि हमारे अचीवमेंट भी हाई हो सके इस पूरे प्रोसेस में कोई डॉक्टर बनना चाहता है तो कोई इंजीनियर कोई राइटर करना चाहता है तो कोई डिजाइनर इस तरह से अलग अलग होती है ऑप्शन मिल पाता है इस तरह से हमें हमारा गोल हासिल के लिए अलग-अलग टर्म्स एंड कंडीशंस लागू होती है। इन सभी  टर्म एंड कंडीशन को फॉलो करके ही हम अपना सुनिश्चित करियर बना सकते हैं । डॉक्टर बनने के लिए  कौन सा प्रोसेस फॉलो कियाा जाता इसीलिए आज आपकी हेल्प करने के लिए तत्पर हैं। तो आइए जान लेते हैं की डॉक्टर बनने के लिए  कंपलसरी टेस्ट के बारे में पूरी जानकारी ।और कैसे NEET करके डॉक्टर बन सकते हैं। 
 NEET क्या है what is NEET

NEET की फुल फॉर्म होती है नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (national eligibility cum entrance test )और यह भारत में मेडिकल एजुकेशन से जुड़े कोर्सेज एमबीबीएस और वी डीएस मे ऐडमिशन लेने के लिए एक क्वालीफाई इंटरेस्ट एग्जाम है इस एग्जाम को क्लियर कर लेने वाले स्टूडेंट को इन कोर्सेज में एडमिशन मिल जाता है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी  की NTA ‍ national testing agency इस एग्जाम को  कंडक्ट करती है और  NEET Exam टू लेवल पर होती है UG और PG . NEET. नीट यूजी लेवल पर एमबीबीएस और बीडीएस जैसे मेडिकल कोर्स इसके लिए एंट्रेंस टेस्ट होता है जबकि नीत पीजी लेवल में और एमडी जैसे डिग्री कोर्सेज में एंट्रेंस टेस्ट होता है यह एग्जाम हर साल देश के लगभग 479 यानी कि 417 मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है  

NEET  एग्जाम की जरूरत क्यों पड़ी
अब यह जानना भी जरूरी है की नीट एग्जाम की जरूरत क्यों पड़ी जबकि इससे पहले भी मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट हुआ करते थे उसका जवाब यह है कि पहले भारत में मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अलग-अलग 90 एग्जाम हुआ करते थे इनमें इंग्लिश एआईपीएमटी सी बी एस ई आर ई के सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा करवाया जाता था और हर स्टेट भी अलग-अलग मेडिकल एंटरेंस टेस्ट करवाता था इस सिचुएशन में हर स्टूडेंट को लगभग 7 से 8 एंट्रेंस एग्जाम देने पड़ते थे जिससे ना केवल उन्हें बहुत प्रेशर में रहते हुए परफॉर्म करना होता था बल्कि हर इंसान के साथ एप्लीकेशन फीस और एंट्री फीस अपीयर होने के लिए बहुत सारा खर्चा भी हुआ करता था। तो इस फाइनेंसियल वार्डन को हटाने और टाइम को बेस्ट होने से बचाने के  लिए नीट एग्जाम लाया गया। अलग-अलग एग्जाम को क्लियर करने के लिए अलग-अलग सिलेबस को पूरा करने जैसे कि स्ट्रेस को भी NEET  एग्जाम से दूर कर दिया है क्योंकि मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन के लिए सिर्फ एक एग्जाम यानी कि NEET को क्लियर करने की जरूरत है तो इस तरीके से नीट एआईपीएमटी ऑफ स्टेट लेवल सीजीएचएस दिल्ली पीएनबी एमएचसीईटी आरपीएमटी डब्ल्यूबीएमसीसी को रिप्लेस कर दिया है और यह काफी अच्छी बात है।
 आगे से जुड़ी कुछ इंपॉर्टेंट बात होगी अगर बात करें तो नीट UG की तो 2019 5 मई 2019 को हुआ और 5 जून 2019 को इसका रिजल्ट डिक्लेयर कर दिया गया है यह एक  सिंगल स्टेज एग्जाम है और यह ऑफलाइन होता है आने वाले सालों में एग्जाम ऑफलाइन होगा या ऑनलाइन यह अभी तय नहीं है वैसे यह भी पॉसिबिलिटी है कि आगे आने साल में एक बार होने के बजाय दो बार हो सकते हैं । इस एग्जाम की ड्यूरेशन 3 घंटे की होती है। इस एग्जाम में ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन होते हैं। और नेगेटिव मार्किंग होती है इस एग्जाम में बैठने के लिए ट्वेल्थ में फिजिक्स ,केमिस्ट्री और बायोलॉजी या बायोटेक्नोलॉजी सब्जेक्ट होने चाहिए और इस एग्जाम में फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी क्वेश्चन शामिल होते हैं । नीट में अपीयर होने के लिए मैथ की जरूरत नहींं होती है।
NEET एग्जाम के लिए योग्यता
इस एग्जाम को देने के लिए कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए। एग्जाम के लिए कोई अप्पर एज लिमिट नहीं है। तथा क्लास 12th में मिनिमम 50% मार्क्स लाना जरूरी है। तथा  ओबीसी एससी और एसटी कैंडिडेट के लिए 40% फोन आने वाली है।इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए कैंडिडेट कितने भी अटेंड दे सकता है। कैंडिडेट का इंडियन होना जरूरी है। neet ki puri jankari 

NEET एग्जाम की तैयारी कैसे करें 

सबसे पहले तो आप अपने करियर से जुड़ा यह इंपॉर्टेंट डिसिशन अच्छे से सोच समझ कर लीजिए कि क्या वाकई में आप अपने आप को डॉक्टर के तौर पर देखना चाहते हैं मगर जवाब हां है तो पूरी तरीके से तैयारी करने में जुट जाइए । और अपना पूरा ध्यान इस एग्जाम को  क्लियर करने पर लगाइए । इसके लिए ट्वेल्थ स्टैंडर्ड का एग्जाम भी आपको अच्छे से क्लियर करना चाहिए। आप स्कूल में जितना अच्छा कर सकते हैं । उतनाा ही फायदाा आपको मिलेगा। फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी के बेसिक को अच्छे से समझे प्रैक्टिकल भी करके देखें क्योंकि थ्योरी बस समझने के लिए होती है । असल में प्रैक्टिकल ही जरूरी है। टाइम मैनेज करना सीखें
 NEET की तैयारी के लिए आवश्यक मटेरियल ऑनलाइन भी उपलब्ध है उसकी भी मदद लीजिए ।ऑथेंटिक बुक्स की हेल्प लीजिए और अपनी हेल्थ का भी ख्याल रखिए ताकि आप अच्छे से परफॉर्म कर सके कम से कम 6to 7 घंटे की नींद जरूरी हैै । अधूरी  नींद  से किसी भी टॉपिक को अच्छे से समझ नहीं सकते हैं अधूरी नींद का असर आपकी बॉडी और माइंड पर पड़ेगा ।  खुद को एक कमरे में बंद करके दिन रात पढ़ते रहने की बजाय सही टाइम टेबल बनाइए ।
दोस्तों इसी के साथ इस जानकारी में बस इतना ही। हम लेकर आते रहते हैं अपनी वेबसाइट पर कैरियर संबंधित बहुत से महत्वपूर्ण जानकारियां क्योंकि हम इस वेबसाइट को वेबसाइट नहीं बल्कि हमारा घर मानते हैं। तो कमेंट करके बताएं कैसी लगी आपको जानकारी साथ ही साथ अपने दोस्तों को भी शेयर करें।

thank you friend for reading

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *